बीते कुछ माह से दुनियाभर के शेयर मार्केट में गिरावट दर्ज की जा रही है। रूस-यूक्रेन युद्ध, सप्लाई चेन में बढ़ती दिक्कत और कोरोना संक्रमण के कारण अधिकांश देशों में महंगाई बेकाबू हो गई है। श्रीलंका जैसे छोटे देश तो कंगाली की कगार पर पहुंच गए हैं। दुनियाभर में माल सप्लाई करने वाला चीन एक बार फिर कोरोना संक्रमण के कारण लॉकडाउन की चपेट में है। इस सभी परिस्थितियों के कारण भी शेयर बाजार में गिरावट दर्ज की जा रही है।

Gold Silver Price: दीपावली से पहले सोने चांदी के भाव में गिरावट, जानें आपके शहर में आज ताजा कीमत

DJIA और NASDAQ के बीच अंतर

DJIA और NASDAQ जैसे स्टॉक इंडेक्स मौजूदा आर्थिक रुझानों और सार्वजनिक कंपनियों के प्रदर्शन के बारे में बहुत कुछ बताते हैं। यह समझना कि शेयर बाजार कैसे काम करता है, बहुत आसान नहीं है, लेकिन डीजेआईए शीर्ष 30 ब्लू-चिप अमेरिकी कंपनियों के बारे में एक विचार देता है जबकि NASDAQ दोनों इंडेक्स और अपने इलेक्ट्रॉनिक प्लेटफॉर्म में व्यापार की अनुमति देता है।

DJIA और NASDAQ के बीच मुख्य अंतर यह है कि DJIA केवल एक सूचकांक है जबकि NASDAQ एक सूचकांक डॉव जोन्स इंडेक्स कंपनियां और एक इलेक्ट्रॉनिक एक्सचेंज दोनों है जिसका अर्थ है कि निवेशक NASDAQ में स्टॉक ऑनलाइन मोड में खरीद और बेच सकते हैं। DJIA में NASDAQ पर कारोबार करने वाले शीर्ष 30 शेयरों का केवल मूल्य-भारित औसत होता है जबकि NASDAQ 3,300 से अधिक शेयरों को ट्रैक करता है।

DJIA का मतलब डॉव जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज है और इसे आमतौर पर “द डॉव” के नाम से जाना जाता है। लोग हमेशा डॉव और डॉव जोन्स एंड कंपनी को भ्रमित करते हैं लेकिन वे समान नहीं हैं। डीजेआईए एस एंड पी डॉव जोन्स इंडेक्स एलएलसी के स्वामित्व वाले कई इंडेक्स में से एक है। डीजेआईए में दिखाई देने वाली कंपनियों को अमेरिका की सबसे बड़ी ब्लू-चिप कंपनियों के रूप में जाना जाता है।

DJIA और NASDAQ के बीच तुलना तालिका

तुलना के पैरामीटरडीजेआईएNASDAQ
प्रकारDJIA केवल एक स्टॉक मार्केट इंडेक्स को संदर्भित करता है जहां यह न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज (NYSE) और NASDAQ में सूचीबद्ध कंपनियों को ट्रैक करता है।NASDAQ ट्रेडिंग (स्टॉक बेचने और खरीदने) के साथ-साथ मार्केट इंडेक्स के लिए एक वैश्विक इलेक्ट्रॉनिक मार्केटप्लेस को संदर्भित करता है।
विविधताडीजेआईए अमेरिका में केवल 30 ब्लू-चिप कंपनियों को अनुक्रमित करता है।NASDAQ में 3,300 से अधिक कंपनियों और विभिन्न औद्योगिक क्षेत्रों के स्टॉक हैं।
इंडेक्स वेटेजइंडेक्सिंग के लिए पैरामीटर कंपनी के बाजार पूंजीकरण पर निर्भर करता है।NASDAQ में इंडेक्सिंग पैरामीटर कंपनी के स्टॉक की कीमत है।
स्थापना की तिथिचार्ल्स डॉव ने अपने बिजनेस पार्टनर एडवर्ड जोन्स के साथ 1896 में डीजेआईए बनाया।NASDAQ फरवरी 1971 में नेशनल एसोसिएशन और सिक्योरिटीज डीलर्स (NASD) की सहायक कंपनी के रूप में बनाया गया था।
सूचकयह बाजार और आर्थिक स्वास्थ्य को इंगित करता है।यह विशेष रूप से प्रौद्योगिकी क्षेत्र में विभिन्न कंपनियों के प्रदर्शन को इंगित करता है।

NASDAQ क्या है?

NASDAQ एक इलेक्ट्रॉनिक प्रणाली स्थापित करने के लिए बनाया गया था जहां निवेशक तेजी से और पारदर्शी तरीके से स्टॉक खरीद और बेच सकते हैं। उन दिनों में जब ऑनलाइन ट्रेडिंग के लिए कोई इंटरनेट या व्यवहार्य प्लेटफॉर्म नहीं था, लोगों को ट्रेडिंग के लिए एक ट्रेडिंग ऑफिस जाना पड़ता था और पेपर वर्क जमा करना पड़ता था। चूंकि NASDAQ इंडेक्सिंग और ट्रेडिंग दोनों के लिए एक प्लेटफॉर्म है, यह शब्द कभी-कभी सूचीबद्ध शेयरों के मार्केट इंडेक्स को संदर्भित करता है और कभी-कभी ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर जहां 3,300 से अधिक स्टॉक सूचीबद्ध होते हैं।

NASDAQ में, दुनिया की कुछ सबसे शक्तिशाली टेक कंपनियां सूचीबद्ध हैं। इनमें Google, Microsoft, Apple, Intel, आदि शामिल हैं। जब NASDAQ की स्थापना हुई, तो यह मूल कंपनी, NASD के अधीन था, लेकिन 2006 में एक स्वतंत्र मंच के रूप में काम करना शुरू कर दिया। 2007 में, NASDAQ स्कैंडिनेवियाई एक्सचेंज समूह के साथ विलय के बाद NASDAQ OMX समूह बन गया। , OMX और इससे कंपनी दुनिया की सबसे बड़ी एक्सचेंज कंपनी बन गई है।

अमेरिकी शेयर बाजार की ऊंची उड़ान, डाऊ जोन्स 1201 अंक उछला, नैस्डैक ने लगाई 7.35% की छलांग

अमेरिकी शेयर बाजार की ऊंची उड़ान, डाऊ जोन्स 1201 अंक उछला, नैस्डैक ने लगाई 7.35% की छलांग

अमेरिका में महंगाई के आंकड़ों आई नरमी से स्टॉक मार्केट गरम हो गया। डाऊ जोन्स, नैस्डैक समेत लगभग सभी सूचकांकों में तगड़ा उछाल आया। डॉउ जोन्स इंडस्ट्रियल एवरेज ने 1201 अंक या 3.70 फीसदी की छलांग लगाकर बंद हुआ। इसके अलावा एसएंडपी 500 में 5.54% का उछाल आया और यह 207 अंकों की छलांग लगाकर 3956 के स्तर पर बंद हुआ। जबकि, नैस्डैक 7.35% की उड़ान भरकर 11114 के स्तर पर बंद हुआ।

बता दें अमेरिका में उपभोक्ता डॉव जोन्स इंडेक्स कंपनियां मुद्रास्फीति अक्टूबर में नरम होकर 7.7 फीसदरही। यह आंकड़ा महंगाई को लेकर दबाव कम होने का संकेत है। हालांकि, अक्टूबर महीने में मुद्रास्फीति का आंकड़ा अर्थशास्त्रियों के अनुमान से कम है। श्रम विभाग के गुरुवार को जारी आंकड़ों के अनुसार उपभोक्ता मुद्रास्फीति पिछले महीने सालाना आधार पर नरम होकर 7.7 फीसद रही। सितंबर महीने में यह 8.2 फीसदथी।

US Stock मे कैसे Invest करे? US Stock Market Hindi में

us stocks me kaise invest kre hindi

नमस्कार!! दोस्तों इस आर्टिकल के जरिये जानेगे कि US Stocks क्या होते हैं, US Stocks में हम India में रह कर कैसे Invest कर सकते हैं और US Stocks में Investment करने के लिए कौन सा Application Best रहेगा जिससे आप US Stocks में बहुत ही आसानी से Trading कर पाए

और अगर आपको कुछ भी Doubt होता है तो आप हमे Comment Section के जरिये पूछ सकते हैं

जेसे हम India के share Market मे invest करते है वैसे बहुत सारे लोग सोचते है की हम International या जो हम Facebook, Netflix, Apple, Google का use करते है तो कैसे हम इसमे invest करे?

इस पोस्ट मे हम US stock market के बारे मे जानेगे की कोनसे index होते है, कोन से Stock Exchanges है ओर वो केसे कम करते है, ओर India से केसे अलग है वो जानेगे साथ मे केसे ओर कितना invest करना चाहिए ओर साथ मे US share मे invest करने के फायदे क्या है?

US Share Market Timing

How to invest in us market from INDMoney

लेकिन यहाँ आप Groww की Website के जरिये US Stocks में Invest कर सकते हैं App में ये Function अभी Enable नहीं हुआ हैं..

    ये भी काफी बढ़िया एक App है जिसके जरिये आप US Stocks में पैसे Invest कर सकते हैं साथ ही इंडिया के शेयर बॉन्ड्स, म्यूचुअल फंड सब में invest कर सकते है।

तो ये था Basic US share market का ओर अगर आपको US Share मे Invest करना है तो ये जानकारी होनी चाहिए जिससे आप डॉव जोन्स इंडेक्स कंपनियां अच्छे स्टॉक आसानी से select कर पाओ।

Market Update: अमेरिकी शेयर बाजार में कोहराम, Dow Jones INDEX 1000 पॉइंट गिरा, सेंसेक्स भी 1154 अंक गिरा

Market Update: अमेरिकी शेयर बाजार में कोहराम, Dow Jones INDEX 1000 पॉइंट गिरा, सेंसेक्स भी 1154 अंक गिरा

Share Market Update। दुनियाभर के शेयर बाजारों में लगातार भारी गिरावट का सिलसिला जारी है। अमेरिकी शेयर बाजारों में 18 मई के कारोबारी दिन भारी गिरावट देखी गई है। बुधवार को इंट्रा डे में नैस्डेक (Nasdaq) और S&P में 4 फीसदी की गिरावट दर्ज की गई। वैश्विक बाजार में शेयर बाजारों में लगातार हो रही गिरावट का असर भारत में भी देखा जा रही है। आज बाजार खुलते ही बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज (BSE) में 1154 अंक की गिरावट देखी गई है।

मिली जानकारी है कि टारगेट कॉर्प्स का पहली तिमाही का मुनाफा घटकर आधा हो गया है। ईंधन के दाम बढ़ने और माल ढुलाई का खर्च बढ़ने के कारण मुनाफे पर गहरा आघात लगा है। कंपनी के शेयर 18 मई को 25.2 प्रतिशत गिर गए। अमेरिका में 19 अक्टूबर 1987 के ब्लैक मंडे के बाद शेयर बाजार में 18 मई को सबसे बड़ी गिरावट आई है। इसके अलावा रिटेल कंपनी वॉलमार्ट ने भी कमजोर नतीजे जारी किए थे।

रेटिंग: 4.91
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 593