जिस तरह हर सिक्के के दो पहलु होते है इसी तरह क्रिप्टोकोर्रेंसी के नुकसान भी है

CoinSwitch Kuber becomes second crypto unicorn in India raises Rs 1943 crore - India TV Hindi

क्रिप्टो इनसाइडर ट्रेडिंग क्या है? सामने आया पहला मामला- VIDEO

क्रिप्टोकरेंसी में इनसाइडर ट्रेडिंग हो रही थी. इस क्या कॉइनबेस वैध है मामले में दुनिया में पहली बार किसी को क्रिप्टोकरेंसी में इनसाइडर ट्रेडिंग का दोषी पाया गया है. अमेरिका की एक अदालत ने इस क्या कॉइनबेस वैध है मामले में एक शख्स को दोषी करार दिया है. अमेरिकी अदालत ने भारतीय नागरिक को दोषी पाया है. इस आरोप में अधिकतम 20 क्या कॉइनबेस वैध है साल की जेल की सजा का प्रावधान है. दरअसल आरोपी निखिल वाही कॉइनबेस के एक पूर्व प्रोडक्ट मैनेजर के भाई. निखिल अपने भाई और दोस्त के साथ मिलकर करीब 12 करोड़ रुपए का अवैध लाभ कमाया है.

क्रिप्टो करेंसी को कैसे मैनेज किया जाता है?

कोई भी क्रिप्टोकरंसी को मैनेज करने के लिए कंप्यूटर के एल्गोरिथ्म ब्लॉकचेन तकनीक तथा कंप्यूटर के डिसेंट्रलाइजेशन के माध्यम से मैनेज किया जाता है

क्रिप्टो करेंसी ब्लॉकचेन के माध्यम से काम करते हैं जब भी किसी क्रिप्टो करेंसी के खरीद या बिक्री होती है उसका पूरा रिकॉर्ड रखने के लिए बहुत सारे कंप्यूटर एक जटिल प्रक्रिया में भाग लेते हैं जिस तरह डाटा स्टोर करने के लिए सर्वर रूम की आवश्यकता होती है उसी तरह क्रिप्टोकरंसी के लिए बहुत सारे पावरफुल कंप्यूटर मिलकर क्रिप्टो करेंसी के खरीद बिक्री का पूरा रिकॉर्ड रखते हैं इस प्रक्रिया को क्रिप्टो करेंसी माइनिंग भी कहा जाता है इन प्रक्रियाओं में जितने भी लोगों की आवश्यकता होती है उन्हें रिवॉर्ड के तौर पर क्रिप्टोकरंसी का कुछ हिस्सा दिया जाता है

क्रिप्टो करेंसी मार्केट क्या है?

क्रिप्टो करेंसी मार्केट का मतलब जहाँ लोग इनकी खरीद बिक्री कर सके क्रिप्टो करेंसी के मार्केट को कई नामों से जाना जाता है क्रिप्टो मार्केट क्रिप्टो करेंसी, एक्सचेंज डिजिटल करेंसी, एक्सचेंज कॉइन मार्केट इत्यादि के नाम से जाना जाता है इन मार्केट में आप कोई भी क्रिप्टो करेंसी की खरीद कर सकते हैं जैसे

  • एथेरियम (ETH)
  • लिटकोइन (LTC)
  • डॉगकॉइन (Dogecoin)
  • पीरकॉइन (PPC)
  • बिटकॉइन (BIT )
  • मोनेरो
  • ईथरम और भी बहुत सारे कॉइन है जिसकी खरीदारी कर सकते हैं

क्रिप्टो करेंसी की खरीद कैसे करें

क्रिप्टोकरंसी की खरीद अधिकतर डिजिटल माध्यम से कर सकते हैं क्रिप्टो करेंसी क्या कॉइनबेस वैध है के लिए क्रिप्टो एक्सचेंज पर आप डिजिटल तरीके से यानी कि क्रेडिट कार्ड बैलेंस, वैलेट ट्रांसफर ,पेयपल तथा अन्य डिजिटल तरीके से खरीद सकते हैं क्रिप्टो एक्सचेंज स्टोर पर आप हार्ड कैश जमा कर क्रिप्टो करेंसी खरीद सकते हैं या क्रिप्टो करेंसी बेचकर हार्ड केस प्राप्त कर सकते हैं

भारत में क्रिप्टोकोर्रेंसी की खरीद के लिए बहुत ऑनलाइन प्लेटफॉर्म है जहाँ आप आसानी के इनकी खरीद कर सकते हैं खरीद करने के लिए डॉक्युमनेट के तौर पर पैन कार्ड ,मोबाइल नंबर , ईमेल आदि की जरुरत होगी। भारत में अभी ये प्लेटफॉर्म उपलब्ध हैं WazirX, Zebpay, Coinswitch Kuber और CoinDCX GO , Coinbase ,Binance के नाम शामिल हैं. इन प्लेटफॉर्म पर आप सभी तरह की कॉइन खरीद की जा सकती है।

Cryptocurrency में निवेश का बना लिया है मन तो Crypto 101 के बारे में जान लें सबकुछ, वरना हो सकती है दिक्कत!

Cryptocurrency में निवेश का बना लिया है मन तो Crypto 101 के बारे में जान लें सबकुछ, वरना हो सकती है दिक्कत!

क्रिप्टोकरेंसी के लिए फिलहाल भारत में कोई कानून नहीं है।

महब क्या कॉइनबेस वैध है कुरैशी. क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने वाले लोगों की संख्या तेजी से बढ़ रही है। जिसकी सबसे बड़ी वजह है कि, इसमें शेयर बाजार क्या कॉइनबेस वैध है क्या कॉइनबेस वैध है के विपरीत तेजी से उतार-चढ़ाव देखने को मिलता है। ऐसे में बहुत से लोगों ने क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करके बड़ा लाभ कमाया है। वहीं जिन लोगों ने अभी तक इसमें कभी निवेश नहीं किया है। अब वह भी बिटकॉइन, डॉगकोइन और एथेरियम जैसी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करना चाहते हैं। आपको बता दें क्रिप्टोकरेंसी की शुरुआत हुए अभी केवल 10 साल ही पूरे हुए है। लेकिन इसके बावजूद इसमें लोगों की रूचि दिन दूनी रात चौगनी बढ़ रही है। ऐसे में अगर आप भी क्रिप्टोकरेंसी में निवेश करने की सोच रहे हैं। तो आपको इस खबर को पूरा पढ़ना चाहिए। क्योंकि इसके बिना आपको तकड़ा नुकसान हो सकता है।

KuCoin समीक्षा

KuCoin एक बेहद लोकप्रिय क्रिप्टो ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म है जिसे मूल रूप से 2017 में हॉन्ग कॉन्ग में लॉन्च किया गया था, जो अपना 'द पीपल्स एक्सचेंज' के रूप में प्रचार क्या कॉइनबेस वैध है करता है। इनका उद्देश्य दुनिया भर के लोगों को डिजिटल मुद्राओं की एक श्रृंखला को ट्रेड करने के लिए एक सरल और सुरक्षित प्लेटफॉर्म तक पहुंच दिलाना था। इन्होंने निश्चित रूप से वैश्विक क्रिप्टो समुदाय में प्रभाव डाला है, इसके यूज़रबेस को केवल 5 वर्षों में 11 मिलियन से अधिक तक बढ़ाया है, और दुनिया भर में चार क्रिप्टो होल्डर्स में से एक को सेवा दी है।

KuCoin 700 से अधिक क्रिप्टोकरेंसीज़ प्रदान करता है जिन्हें केवल 0.1% के कम शुल्क के साथ ट्रेड किया जा सकता है। अगर आप KCS कॉइन का इस्तेमाल करके भुगतान करते हैं, तो आपको शुल्क पर 20% की छूट मिलती है। KuCoin उपयोगकर्ताओं को ट्रेड करने के विभिन्न तरीके मिलेंगे, जैसे स्पॉट ट्रेडिंग, मार्जिन ट्रेडिंग, P2P और फ़्यूचर्स ट्रेडिंग। उपयोगकर्ताओं के लिए उपलब्ध एक और विशेषता क्रिप्टो उधार देना और उधार लेना हैं।

KuCoin पर मेरे कुल मिलाकर विचार

KuCoin पर उपलब्ध विभिन्न प्रकार के सेवाओं और कॉइन्स से मैं काफ़ी प्रभावित हूँ, और मैं देख सकता हूँ कि यह दुनिया भर में इतना लोकप्रिय क्यों है। KuCoin का इंटरफ़ेस नए उपयोगकर्ताओं के लिए थोड़ा कठिन हो सकता है, लेकिन एक बार जब आप प्लेटफॉर्म पर अपना रास्ता निकाल क्या कॉइनबेस वैध है लेते हैं, तो आपको कम ट्रेडिंग शुल्क 0.1% और ढेर सारे उपलब्ध ट्रेडिंग टूल्स पसंद आएंगे। KuCoin को सुझाने के लिए ये मेरे शीर्ष 3 कारण हैं:

1) KuCoin पर ट्रेडिंग शुल्क बेहद कम (0.1%) है और यदि आप इनके खुद के टोकन (KCS कॉइन) का इस्तेमाल करके अपने शुल्क का भुगतान करते हैं, तो आप इस शुल्क को 0.08% तक कम कर सकते हैं। यदि आपकी ट्रेडिंग मात्रा ज़्यादा है, और आपके पास KCS कॉइन्स की एक निश्चित संख्या है, तो आपको शुल्क में और छूट दी जाएगी। यदि आप P2P मार्केटप्लेस पर क्रिप्टो खरीदना या बेचना चुनते हैं, तो कोई शुल्क नहीं लगता है!

भारत में इस साल के अंत तक आएगा डिजिटल करेंसी मॉडल, RBI ने दी जानकारी

कॉइनस्विच कुबेर ने देश में अपने परिचालन के 14 माह के भीतर ही यूनिकॉर्न का दर्जा हासिल कर लिया है। आशीष सिंघल, गोविंद सोनी और विमल सागर द्वारा 2017 में शुरू की गई इस कंपनी को क्रिप्‍टो एक्‍सचेंज के ग्‍लोबल एग्रीगेटर के रूप में लॉन्‍च किया गया था। इसने भारत में अपना परिचालन जून 2020 में शुरू किया और वर्तमान में भारत में इसके एक करोड़ यूजर्स हैं, जिसमें से 70 लाख यूजर्स को मंथली एक्टिव वर्ग में रखा गया है।

कॉइनस्विच कुबेर ने कहा कि उसने आंद्रेसेन होरोविट्ज़ (ए16जेड), कॉइनबेस वेंचर्स और मौजूदा निवेशकों पैराडिगम, रिबिट कैपिटल, सिकोया कैपिटल इंडिया और टाइगर ग्लोबल से यह पैसा जुटाया है। कंपनी के अनुसार आंद्रेसेन होरोविट्ज़ एक उद्यम पूंजी कंपनी है जो प्रौद्योगिकी के माध्यम से भविष्य का निर्माण करने वाले साहसिक उद्यमियों का समर्थन करने के लिए जानी जाती है। वही कॉइनबेस क्रिप्टो अर्थव्यवस्था बनाने से संबंधित शुरुआती कंपनियों में से है और दुनिया के सबसे बड़े क्रिप्टो एक्सचेंजों में से एक का संचालन करती है।

रेटिंग: 4.35
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 607