Moneycontrol 1 दिन पहले Moneycontrol Hindi

NDTV के शेयरों में तेजी, अडानी ग्रुप को हिस्सेदारी बेचने की खबर से उछले शेयर

NDTV के फाउंडर प्रणय रॉय और राधिका रॉय ने अपनी 27.36 फीसदी हिस्सेदारी अडानी ग्रुप को बेचने का फैसला किया है। इस खबर के बाद शेयरों में तेजी देखने को मिल रही है। बता दें कि पिछले 6 महीने में कंपनी के शेयर की कीमत 105 फीसदी बढ़ी है

नई दिल्ली टेलीविजन (NDTV) के शेयर आज सोमवार को इंट्रा-डे ट्रेड में 5 फीसदी बढ़कर 357.60 रुपये पर पहुंच गए।

NDTV Share Price: नई दिल्ली टेलीविजन (NDTV) के शेयर आज सोमवार को इंट्रा-डे ट्रेड में 5 फीसदी बढ़कर 357.60 रुपये पर पहुंच गए। दरअसल, कंपनी के फाउंडर प्रणय रॉय और राधिका रॉय ने NDTV में अपनी 27.36 फीसदी हिस्सेदारी अडानी ग्रुप को बेचने का फैसला किया है। इस खबर के चलते NDTV के शेयरों में आज तेजी देखने को मिल रही है। बता दें कि अडानी ग्रुप द्वारा NDTV को खरीदने की खबरों के बाद पिछले 6 महीने में कंपनी के शेयर की कीमत 105 फीसदी बढ़ी है। इससे पहले, इस स्टॉक ने 6 सितंबर, 2022 को 567.85 रुपये की रिकॉर्ड हाई को छुआ था।

अडानी ग्रुप की 64.71 फीसदी हो जाएगी हिस्सेदारी

NDTV ने शेयर बाजारों को भेजी सूचना में बताया कि प्रणय रॉय और राधिका रॉय कंपनी में अपनी 32.26 फीसदी हिस्सेदारी में से 27.26 फीसदी अडानी ग्रुप को बेचेंगे। इससे अडानी ग्रुप की कंपनी में कुल हिस्सेदारी बढ़कर 64.71 फीसदी हो जाएगी। अडानी ग्रुप के पास पहले से करीब 37 फीसदी हिस्सेदारी है। अडानी ग्रुप ने सबसे पहले RRPR होल्डिंग को तेज ऑनलाइन ट्रेडिंग खरीदा था, जिसकी न्यूज ब्रॉडकास्टर में 29.18 फीसदी हिस्सेदारी थी, जिसके बाद उसने इस महीने की शुरुआत में ओपन ऑफर रूट के जरिए अतिरिक्त 8.27 फीसदी हिस्सेदारी हासिल की।

Stock Market Opening: शेयर बाजार में लगातार दूसरे दिन रौनक गुलजार, आज के टॉप गेनर में टाटा मोटर्स तो सिपला पर दवाब

Share Market Update

Share Market Update: चीन में कोरोना के बढ़ते कहर के कारण दुनियाभर के देश अलर्ट मोड पर आ गए हैं। इसका असर भारत समेत दुनियाभर के सर्राफा बाजार पर देखने को मिल रहा है। अंतर्राष्ट्रीय और अमेरिकी बाजार से मिल रहे कमजोर संकेतों के बीच आज लगातार दूसरे दिन भारतीय घरेलू शेयर बाजार में तेजी का रूख है। आज सेंसक्स और निफ्टी दोनों में तेजी देखी जा रही है। सेंसेक्ट और निफ्टी दोनों हरे निशान पर कारोबार कर रहा है। आज सेंसेक्स में 295 और निफ्टी में 75 अंकों से ज्यादा की तेजी के साथ ट्रेडिंग की शुरुआत हुई।

सेंसेक्स मंगलवार को 295 अंकों के उछाल के साथ 60861 के लेवल पर, निफ्टी 75 अंकों की तेजी के साथ 18089 पर ओपन हुआ। बैंक निफ्टी में 197 अंकों की तेजी के साथ 42827 के लेवल पर कारोबार की शुरुआत हुई।

इस कारोबारी हफ्ते के लगतार दूसरे दिन भारतीय शेयर बाजार में कोरोबार की शुरुआत हरे निशान के साथ हुई। आज बीएसई (BSE) का 30 शेयरों वाला इंडेक्स सेंसेक्‍स (Sensex) 295 अंकों की तेजी के साथ 60,861 के स्तर पर है, जबकि एनएसई (NSE) का 50 शेयरों वाला इंडेक्स निफ्टी (Nifty) 75 अंकों की उछाल के साथ 18,089 के स्तर पर खुला।

बाजार का आज का हाल

आज सुबह शुरुआत में बीएसई में कुल 1,585 कंपनियों में कारोबार की शुरुआत हुई। इसमें करीब 1,241 शेयर तेजी तो 274 गिरावट के साथ खुलीं। जबकि 70 कंपनियों के शेयर के दाम स्थिर हैं। वहीं 18 शेयर 52 हफ्ते के ऊपरी स्तर को 10 शेयर 52 हफ्ते के सबसे निचले स्तर पर कारोबार कर रहे हैं।

आज के चढ़ने-गिरने वाले शेयर्स

– आज के चढ़ने वाले शेयर्स की बात करें तो टाटा मोटर्स, हिन्डाल्को, ओएनजीसी, पॉवर ग्रिड कार्पोरेशन, टाटा स्टील समेत कई कंपनियों के शेयर्स में तेजी देखी जा रही है।

– वहीं गिरने वाले शेयर्स पर नजर डालें तो सिपला, डा रेड्डी लैब, सन फार्मा समेत कई कंपनियों शेयर में गिरावट देखी जा रही है।

डॉलर के मुकाबले 6 पैसे की कमजोरी के साथ खुला रुपया

इस हफ्ते कारोबारी दूसरे दिन आज विदेशी मुद्रा बाजार में डॉलर के मुकाबले रुपया कमजोरी के साथ खुला है। आज शुरुआती कारोबार में डॉलर के मुकाबले रुपया 6 पैसे की कमजोरी के साथ 82.71 रुपये के स्तर पर खुला। जबकि पिछले कारोबारी दिन सोमवार को डॉलर के मुकाबले रुपया 21 पैसे की मजबूती के साथ 82.65 रुपये के स्तर पर बंद हुआ था।

पिछले दिनों बाजार का ये रहा था हाल

सोमवार (26 December): सेंसेक्स 721 अंकों की बड़ी तेजी के साथ 60,566 अंक पर बंद हुआ था। जबकि निफ्टी 208 अंकों की तेजी के साथ 18,015 अंक पर बंद हुआ था।

शुक्रवार (23 December): सेंसेक्स 980 अंकों की भारी गिरावट के साथ 59,845 प्‍वाइंट पर बंद हुआ था। जबकि निफ्टी 320 अंकों की नरमी के साथ 17,806 अंक पर बंद हुआ था।

गुरुवार (22 December): सेंसेक्स 241 अंकों की गिरावट के साथ 60,826 प्‍वाइंट पर बंद हुआ था। जबकि निफ्टी 71 अंकों की नरमी के साथ 18,127 अंक पर बंद हुआ था।

बुधवार (21 December): सेंसेक्स 636 अंकों की गिरावट के साथ 61,067 प्‍वाइंट पर बंद हुआ था। जबकि निफ्टी 186 अंकों की नरमी के साथ 18,199 अंक पर बंद हुआ था।

देश और दुनिया की ताज़ा खबरें सबसे पहले न्यूज़ 24 पर फॉलो करें न्यूज़ 24 को और डाउनलोड करे - न्यूज़ 24 की एंड्राइड एप्लिकेशन. फॉलो करें न्यूज़ 24 को फेसबुक, टेलीग्राम, गूगल न्यूज़.

यस वर्ल्ड टोकन ने दुनियाभर के 80 देशों में यूटिलिटी सर्विसेज की शुरुआत की, यस क्रिप्टोकरंसी का उठा सकेंगे लाभ

यस वर्ल्ड यूटिलिटी सेवाओं के उपभोक्ता कूपन को ऑनलाइन और ऑफलाइन सभी तरह के प्लेटफॉर्म पर भुना सकते हैं। ऐसे कई व्यापारी हैं जो भौतिक दुकानों पर स्थापित पीओएस टर्मिनल पर सीधे यस वर्ल्ड टोकन स्वीकार कर रहे हैं।

Yes World Token launches utility services in 80 countries around the world | यस वर्ल्ड टोकन ने दुनियाभर के 80 देशों में यूटिलिटी सर्विसेज की शुरुआत की, यस क्रिप्टोकरंसी का उठा सकेंगे लाभ

यस वर्ल्ड टोकन ने दुनियाभर के 80 देशों में यूटिलिटी सर्विसेज की शुरुआत की, यस क्रिप्टोकरंसी का उठा सकेंगे लाभ

यस वर्ल्ड टोकन (YES WORLD Token) की तेज ऑनलाइन ट्रेडिंग उपयोगिता सेवाएं (Utility Services) अब दुनिया भर के 80 देशों में उपलब्ध हैं। यस वर्ल्ड ने आज वैश्विक समुदाय के सदस्यों के लिए घोषणा की कि यस वर्ल्ड टोकन को दुनिया भर में अपनाया जा रहा है और हर दिन हजारों नए यस वर्ल्ड टोकन धारक देखे जा रहे हैं।

यस वर्ल्ड एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म शुरू कर रहा है

यस वर्ल्ड एक ऑनलाइन प्लेटफॉर्म शुरू कर रहा है जहां उपयोगकर्ता यस वर्ल्ड टोकन का उपयोग करने में सक्षम होंगे और उत्पादों और सेवाओं के लिए अपनी नियमित खरीदारी के लिए यस क्रिप्टोकरंसी का लाभ उठाने में सक्षम होंगे। ऑनलाइन प्लेटफॉर्म 80 से अधिक देशों में उपलब्ध है। इस नवीनतम तेज ऑनलाइन ट्रेडिंग घोषणा के साथ, YES WORLD टोकन धारकों के पास अब मूल्य वृद्धि (Price hike) के लिए न केवल टोकन को होल्ड करने का विकल्प है, बल्कि अपने तेज ऑनलाइन ट्रेडिंग देशों में उपलब्ध विभिन्न उपयोगिता और उपयोगिता सेवाओं के लिए इसका उपयोग करने का भी विकल्प है।

22 देशों में किए गए एक हालिया अध्ययन ने संकेत दिया कि वैश्विक स्तर पर 56% उपभोक्ता क्रिप्टो स्वीकार करने वाले व्यापारियों के साथ लेनदेन करने की अधिक संभावना रखते हैं, जबकि 250 मिलियन डॉलर से अधिक के ऑनलाइन वार्षिक कारोबार वाले 202 व्यापारियों के साथ किए गए अन्य शोध से संकेत मिलता है कि वर्तमान में 46% व्यापारी क्रिप्टोक्यूरेंसी को भुगतान के रूप में स्वीकार करना। उपभोक्ताओं और व्यापारियों दोनों की इतनी बड़ी रुचि के साथ, यस वर्ल्ड क्रिप्टोकरंसी के साथ भुगतान स्वीकृति की सुविधा के लिए जरूरी हिस्से को ला रहा है।

टोकन को कैसे करना होगा उपयोग?

यस वर्ल्ड यूटिलिटी सेवाओं के उपभोक्ता कूपन को ऑनलाइन और ऑफलाइन सभी तरह के प्लेटफॉर्म पर भुना सकते हैं। ऐसे कई व्यापारी हैं जो भौतिक दुकानों पर स्थापित पीओएस टर्मिनल पर सीधे यस वर्ल्ड टोकन स्वीकार कर रहे हैं। टोकन का उपयोग करके भुगतान करने के लिए उपयोगकर्ताओं को पीओएस टर्मिनल पर चेकआउट पर प्रस्तुत बार-कोड को स्कैन करना होगा। जानकारी के अनुसार, अग्रणी ई-कॉमर्स कंपनियों को ऑनबोर्ड करने के लिए एकीकरण का काम चल रहा है, जहां उपयोगकर्ता जल्द ही भुगतान मोड के रूप में यस वर्ल्ड टोकन का उपयोग करके ऑनलाइन खरीदारी करने में सक्षम होंगे।

पिछले हफ्ते ही, यस वर्ल्ड ने सूचित किया कि वह मर्चेंट ऑन-बोर्डिंग, तकनीकी उन्नयन, समर्थन कार्यों, साथ ही नए नवाचारों के लिए दुनिया भर में 600 लोगों को नियुक्त करने की योजना बना रहा है। यह 24 अप्रैल, 2024 को वैश्विक लॉन्च से पहले दुनिया भर में 10 मिलियन व्यापारी प्रतिष्ठानों को ऑनबोर्ड करने की योजना बना रहा है, जहां भुगतान के लिए मूल टोकन स्वीकार किए जाएंगे।

यस वर्ल्ड टोकन अग्रणी उपयोगिता टोकन है और पिछले कुछ महीनों में यह अच्छा कर्षण अनुभव कर रहा है। 2022 के वसंत में लॉन्च किया गया, येस वर्ल्ड टोकन XT.com और Coinsbit.io सहित कई प्रमुख केंद्रीकृत एक्सचेंजों के साथ-साथ विकेंद्रीकृत एक्सचेंज - PancakeSwap पर कारोबार कर रहा है। यस वर्ल्ड ने ग्लोबल लॉन्च से पहले 50 से अधिक प्रमुख क्रिप्टो एक्सचेंजों को ऑनबोर्ड करने की योजना बनाई है।

CoinMarketCap डेटा के अनुसार, यस वर्ल्ड टोकन का अधिकांश Trading Pair पर उच्च विश्वास है जो इंगित करता है कि तरलता की अच्छी मात्रा के साथ-साथ व्यापारिक मात्रा भी है। एक अन्य अग्रणी क्रिप्टो मार्केटप्लेस CoinGecko दर्शाता है कि YES WORLD के पास 4 एक्सचेंजों में 15 Trading Pairs है। इस डेटा को देखते हुए, येस वर्ल्ड तेजी से बढ़ रहा है और टोकन के पीछे टीम की तरह दिखता है, काफी चुस्त है और सक्रिय रूप से ग्राहकों की मांगों को सुन रहा है और संबोधित कर रहा है।

येस वर्ल्ड टोकन सिंगापुर में स्थित YES WORLD Climate Tech Pte Ltd द्वारा संचालित है। यह एक क्लाइमेट टेक ब्लॉकचेन-आधारित स्टार्टअप है जो कार्बन फुटप्रिंट को कम करने के लिए हरित तकनीक पर काम कर रहा है। येस, येस वर्ल्ड के SAVE EARTH का नेटिव टोकन है। मिशन में शामिल होने और वातावरण से कार्बन पदचिह्न को कम करने की दिशा में कदम उठाने के लिए महत्वपूर्ण जनसमूह को लाने के लिए ग्लोबल वार्मिंग चुनौतियों के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए इसकी संकल्पना की गई है।

यस वर्ल्ड की अवधारणा SAVE EARTH एक्टिविस्ट डॉ संदीप चौधरी द्वारा शुरू की गई है, जो ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन के प्रभावों के बारे में जागरूकता पैदा करने के लिए लगातार काम कर रहे हैं। डॉ. चौधरी की दृष्टि और नेतृत्व के तहत, यस वर्ल्ड ने कार्बन फुटप्रिंट को कम करने और ग्लोबल वार्मिंग और जलवायु परिवर्तन के मुद्दे को सामने लाने का एक नेक काम किया है।

यस वर्ल्ड वर्तमान में सॉफ्ट लॉन्च में है और 23 मार्च 2023 से शुरू होने वाले सबसे बड़े Airdrop अभियानों में से एक की योजना बना रहा है, इसके बाद 24 अप्रैल, 2024 को एक प्रमुख ग्लोबल लॉन्च होगा और इससे पहले 50 से अधिक प्रमुख क्रिप्टो एक्सचेंजों को नामांकित किया जाएगा।

Stock market : भूल जाइए टेक्निकल इंडिकेटर्स! 8 स्टेप्स की यह ट्रेडिंग स्ट्रैटजी देगी कमाई की गारंटी

Moneycontrol लोगो

Moneycontrol 1 दिन पहले Moneycontrol Hindi

© Moneycontrol द्वारा प्रदत्त Stock market : भूल जाइए टेक्निकल इंडिकेटर्स! 8 स्टेप्स की यह ट्रेडिंग स्ट्रैटजी देगी कमाई की गारंटी Trading Strategy : भारत की सदियों पुरानी ध्यान यानी मेडिटेशन की प्रक्रिया में आपके मन से फिजूल के विचार एक-एक करके निकल जाते हैं और आप शांति की स्थिति में पहुंच जाते हैं। इसे सफलतापूर्वक करने पर आपका तनाव बिल्कुल खत्म होता जाता है। शेयर बाजार में 8 स्टेप्स वाली ऐसी ही ट्रेडिंग की स्ट्रैटजी है, जो आपको सफलता की गारंटी दे सकती है। यह मुंबई बेस्ड ट्रेडर विजय ठक्कर (Vijay Thakkar) ने तैयार की है। हालांकि, यह आपकी ट्रेडिंग स्क्रीन को अव्यवस्थित करने का भी काम करती है, जिसमें आपको सभी टेक्निकल इंडिकेटर्स (technical indicators) को हटाना होगा, ताकि आप देख सकें कि पीछे क्या छिपा है। हम यहां आपकी स्ट्रैटजी के बारे में ही बता रहे हैं। ट्रेड सेटअप Trade set-up : इसमें ठक्कर एंट्री और एग्जिट प्वाइंट निकालने के लिए कैंडिलस्टिक चार्ट (candlestick chart) पर लॉन्ग टर्म प्राइस मूवमेंट का इस्तेमाल करते हैं। बेसिक आइडिया मूमेंटम पर सवार होने का है। इस स्ट्रैटजी में हर हफ्ते महज 2 घंटे का समय लगता है। Stock Market : भारी गिरावट के बीच मिलेंगे कमाई के मौके, अगर इन 10 फैक्टर्स पर अगले सप्ताह रहेगी नजर स्टेप 1 : हर हफ्ते ऐसे स्टॉक्स को स्कैन करें, जिन्होंने 52 हफ्ते के हाई छूए हों। कंजर्वेटिव ट्रेडर्स इसे आगे सिर्फ एनएसई 500 स्टॉक्स (NSE 500 stocks) पर आजमा सकते हैं। स्टेप 2 : फिल्टर से निकले स्टॉक्स के लिए या तो वीकली या मंथली कैंडिलस्टिक चार्ट लोड करना शुरू करें। स्टेप 3 : आखिरी बड़ा सप्लाई जोन पता लगाइए। यह चार्ट पर एक बड़े पीक के रूप में नजर आएगा। ऐसे पीक खोजने के लिए चार्ट टाइमलाइन पर कुछ साल पहले भी जा सकते हैं। ऐसे पीक्स आम तौर पर स्टॉक्स के लिए बड़े रेजिस्टेंस जोन बनाते हैं। स्टेप 4 : देखिए, क्या प्राइस पिछले सप्लाई जोन से गिरने के बाद रेजिस्टैंस जोन में लौट आया है। यदि हां, तो यह ट्रेडिंग के लिए अच्छा स्टॉक है। यदि नहीं, तो कोई और शेयर खोजिए। Market Outlook: शेयर बाजार में अगले हफ्ते आएगी तेजी या जारी रहेगी गिरावट? जानें एक्सपर्ट्स की क्या है राय? स्टेप 5 : एक बार यदि आपने स्टॉक सलेक्ट कर लिया, तो इसके रेजिस्टैंस जोन से ऊपर निकलने का इंतजार करें। तुलनात्मक रूप से हाइयर वॉल्यूम के साथ ब्रेकआउट कैंडिल मजबूत होना चाहिए। एक बार ब्रेकआट मिलने पर, स्टॉक को रेजिस्टेंस लेवल से 4 फीसदी की दूरी के भीतर खरीदें। उदाहरण के लिए, यदि रेजिस्टैंस 100 रुपये है तो आपकी खरीद 104 रुपये पर होना चाहिए। यदि आप बाजार को रोजाना ट्रैक नहीं करते हैं तो आप इस कीमत पर गुड टिल ट्रिगर (जीटीटी) ऑर्डर भी दे सकते हैं। स्टेप 6 : पता लगाएं कि पिछले प्रमुख सप्लाई जोन के प्रभावित होने के बाद कीमत में सबसे ज्यादा गिरावट कितनी थी। प्रतिशत की गणना करिए और रेजिस्टैंस जोन के उतना प्रतिशत ऊपर टारगेट रखें। उदाहरण के लिए, यदि स्टॉक 100 रुपये के रेजिस्टेंस जोन से 40 रुपये पर गिरता है। मतलब 40 फीसदी गिरता है आपका टारगेट 140 रुपये होगा। स्टेप 7 : रेजिस्टेंस लेवल से 4 फीसदी नीचे स्टॉप लॉस लगाइए। उक्त उदाहरण में यह 96 रुपये होना चाहिए। एक बार फिर से आप स्टॉप लॉस के रूप में जीटीटी सेल ऑर्डर लगा सकते हैं। स्टेप 8 : टारगेट के हिट होने तक मूमेंटम के साथ बने रहिए। अपनी होल्डिंग्स पर आधा प्रॉफिट बुक कर लीजिए। अब, अपने स्टॉप लॉस को निकालने और इनवेस्टमेंट में बने रहने के लिए अपने चार्ट के साथ सुपरट्रेंड इंडिकेटर को जोड़ें। सुपरट्रेंड पर मिला लेवल आपका नया स्टॉपलॉस होगा। यहां पर विचार किसी भी रैली से वंचित नहीं रहने का है, यदि स्टॉक लगातार ऊपर चढ़ रहा है। एक बार प्राइस के सुपरट्रेंड इंडिकेटर हिट करने के बाद पूरी होल्डिंग्स बेच दीजिए। रिस्क मैनेजमेंट Risk management : इस सेट अब से पता चलता है कि ठक्कर 104 रुपये से ज्यादा कॉस्ट की ट्रेड पर 8 रुपये से ज्यादा गंवाने के इच्छुक नहीं हैं। इस प्रकार, उनका रिस्क टॉलरेंस लेवल लगभग 8 फीसदी है। वह कहते हैं, इसमें आम तौर पर रिवार्ड मिलने की संभावना आठ गुनी है। ठक्कर दावा करते हैं कि वह इस स्ट्रैटजी से हर साल 25-30 फीसदी रिटर्न हासिल करने में सक्षम रहे हैं। डिस्क्लेमरः यहां दिए जाने वाले विचार और निवेश सलाह निवेश विशेषज्ञों के अपने निजी विचार और राय होते हैं। Moneycontrol यूजर्स को सलाह देता है कि वह कोई निवेश निर्णय लेने के पहले सर्टिफाइड एक्सपर्ट से सलाह लें।

Moneycontrol की और खबरें

Intranasal Covid-19 Vaccine: सरकारी अस्पताल से 325 रुपए में मिलेगी भारत बायोटेक की इंट्रानैसल वैक्सीन, प्राइवेट की कीमत भी हुई तय

फैल रहा ऑनलाइन देह व्यापार का जाल, वाट्सएप से पक्की होती है बात, ऐप के जरिए होता है लेन-देन

capital region online

लखनऊ. राजधानी में ऑनलाइन देह व्यापार का जाल तेजी से बढ़ रहा है। इसका खुलासा बीते दिनों लखनऊ के गोमतीनगर के विभूतिखंड स्थित एक होटल में रिसेप्शनिस्ट की हत्या की जांच के दौरान हुआ।
दरअसल मामले ऑनलाइन देह व्यापार से जुड़ा है। अब पुलिस के लिए इस ऑनलाइन देह व्यापर का भंडाफोड़ कर पाना एक चुनौती से कम नहीं है। सीओ हजरतगंज अभय कुमार मिश्र के मुताबिक फ्रेंड्स क्लब में शामिल युवक युवतियां वाट्सएप पर ही संपर्क में रहते थे। हत्याकांड की पड़ताल में आरोपियों की वाट्सएप पर बातचीत के साक्ष्य भी मिले हैं। बताया जा रहा है कि पूरे देश में इस क्लब का नेटवर्क फैला हुआ है। वेबसाइट पर रजिस्ट्रेशन के जरिए लोगों को मेंबर बनाया जाता है, उसके बाद सदस्यों की मांग पर किसी भी शहर में लड़कियां उपलब्ध कराई जाती हैं। राजधानी पुलिस इस ऑनलाइन चक्रव्यूह को भेदने की तैयारी में जुट गई है।

रेटिंग: 4.64
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 467