We are always available to address the needs of our users.
+91-9606800800

स्‍टार्टअप से सपनों को नई उड़ान, सरकार ऐसे करेगी आपकी मदद

निवेशक किसी स्टार्टअप की कीमत कैसे तय करते हैं?

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए निवेशक किसी स्टार्टअप की कीमत कैसे तय करते हैं? है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

अमेरिका और चीन की तुलना में भारतीय स्टार्टअप्स विदेशी निवेशकों की पहली पसंद

एक अमेरिकी निवेशक का मानना है कि चीन और अमेरिका के मुकाबले भारतीय युवाओं के स्टार्टअप स्थिर हैं और भरोसेमंद भी हैं. देश में पिछले कुछ साल से स्टार्टअप्स पर ज्यादा जोर दिया जा रहा है. विदेशी निवेशकों को भी इंडियन स्टार्टअप्स पर यकीन हो गया है. अमेरिका और चीन की तुलना में भारतीय स्टार्टअप्स पर विदेशी निवेशक निवेशक किसी स्टार्टअप की कीमत कैसे तय करते हैं? ज्यादा इंवेस्ट कर रहे हैं.

An American investor believes that Indian startups are stable and more reliable in comparison to Chinese and American startups.

भारत में स्टार्टअप के लिए कर प्रोत्साहन की जानकारी

हिंदी

एक स्टार्टअप आमतौर पर व्यवसाइयों द्वारा शुरू किया गया एक व्यापार है, जो अक्सर अनुभवहीन और युवा होते हैं, जिनके पास नवीन विचार होते हैं जो महत्वपूर्ण व्यावसायिक अवसरों में विकसित हो सकते हैं। प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी ने उद्यमिता, प्रौद्योगिकी और नवाचार को पोषित करने निवेशक किसी स्टार्टअप की कीमत कैसे तय करते हैं? वाला एक पारिस्थिति की तंत्र प्रदान करने के लिए वर्ष 2016 में ‘स्टार्टअप इंडिया योजना’ की घोषणा की। स्टार्टअप योजना उद्योग और आंतरिक व्यापार संवर्धन विभाग (डीपीआईआईटी) द्वारा तैयार की गई थी।

स्टार्टअप इंडिया योजना का उद्देश्य भारत में स्टार्टअप्स के लिए हैंडहोल्डिंग और फंडिंग सपोर्ट और प्रोत्साहन जैसे क्षेत्रों में सुधार करना और सरकारी फंडिंग प्रदान करना है। यह योजना उद्योग-अकादमिक साझेदारी और ऊष्मायन भी प्रदान करती है। स्टार्टअप इंडिया योजना ने अब तक 26,619 स्टार्टअप को मान्यता दी है। इनमें से सबसे अधिक स्टार्टअप आईटी सेवाओं की छत्रछाया में आते हैं, इसके बाद जीवन विज्ञान और शिक्षा का स्थान आता है।

निवेशक किसी स्टार्टअप की कीमत कैसे तय करते हैं?

अस्वीकरण :
इस वेबसाइट पर दी की गई जानकारी, प्रोडक्ट और सर्विसेज़ बिना किसी वारंटी या प्रतिनिधित्व, व्यक्त या निहित के "निवेशक किसी स्टार्टअप की कीमत कैसे तय करते हैं? जैसा है" और "जैसा उपलब्ध है" के आधार पर दी जाती हैं। Khatabook ब्लॉग विशुद्ध रूप से वित्तीय प्रोडक्ट और सर्विसेज़ की शैक्षिक चर्चा के लिए हैं। Khatabook यह गारंटी नहीं देता है कि सर्विस आपकी आवश्यकताओं को पूरा करेगी, या यह निर्बाध, समय पर और सुरक्षित होगी, और यह कि त्रुटियां, यदि कोई हों, को ठीक किया जाएगा। यहां उपलब्ध सभी सामग्री और जानकारी केवल सामान्य सूचना उद्देश्यों के लिए है। कोई भी कानूनी, वित्तीय या व्यावसायिक निर्णय लेने के लिए जानकारी पर भरोसा करने से पहले किसी पेशेवर से सलाह लें। इस जानकारी का सख्ती से अपने जोखिम पर उपयोग करें। वेबसाइट पर मौजूद किसी भी गलत, गलत या अधूरी जानकारी के लिए Khatabook जिम्मेदार नहीं होगा। यह सुनिश्चित करने के हमारे प्रयासों के बावजूद कि इस वेबसाइट पर निहित जानकारी अद्यतन और मान्य है, Khatabook किसी भी उद्देश्य के लिए वेबसाइट की जानकारी, प्रोडक्ट, सर्विसेज़ या संबंधित ग्राफिक्स की पूर्णता, विश्वसनीयता, सटीकता, संगतता या उपलब्धता की गारंटी नहीं देता है।यदि वेबसाइट अस्थायी रूप निवेशक किसी स्टार्टअप की कीमत कैसे तय करते हैं? से अनुपलब्ध है, तो Khatabook किसी भी तकनीकी समस्या या इसके नियंत्रण से परे क्षति और इस वेबसाइट तक आपके उपयोग या पहुंच के परिणामस्वरूप होने वाली किसी भी हानि या क्षति के लिए उत्तरदायी नहीं होगा।

स्‍टार्टअप से सपनों को नई उड़ान, सरकार ऐसे करेगी आपकी मदद

aajtak.in

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सरकार के ड्रीम प्रोजेक्‍ट्स की जब भी बात होती है तो स्‍टार्टअप इंडिया का जिक्र जरूर होता है. इस योजना के जरिए सरकार नए कारोबारियों को एक प्‍लेटफॉर्म देने में मदद करती है. मतलब यह कि अगर आप कारोबार करने की सोच रहे हैं तो सरकार की मदद ले सकते हैं. आइए जानते हैं आखिर आप कैसे स्‍टार्टअप की शुरुआत कर सरकार से सहयोग ले सकते हैं.

स्‍टार्टअप से सपनों को नई उड़ान, सरकार ऐसे करेगी आपकी मदद

स्टार्टअप शुरू करने के लिए एक अच्छे और नए आइडिया की जरूरत होती है. ऐसे में अगर किसी भी कारोबार को आप शुरू करने जा रहे हैं तो उससे पहले बिजनेस का आइडिया जरूर सोच लें. आपका बिजनेस आइडिया किसी प्रोडक्ट या सर्विस का हो सकता है. लेकिन आपको निवेशक किसी स्टार्टअप की कीमत कैसे तय करते हैं? यह तय करना होगा कि आपके आइडिया से कितने लोगों की कौन सी समस्या का समाधान होता है.

रेटिंग: 4.43
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 555